Tuesday, May 26, 2020

 हिंदी पहेली उत्तर के साथ | Hindi Paheliya With Answer
किसी वस्तु या विषय का ऐसा गूढ़ वर्णन जिसके आधार पर उत्तर देने या उस वस्तु का नाम बताने में बहुत सोच विचार करना पड़े I 
        Hindi Paheliya (Hindi Riddels)

पहेली : आप मुझे पानी में देख सकते हैं, लेकिन मैं कभी भी भीग नहीं सकता। मैं क्या हूँ?

उत्तर : प्रतिबिंब


पहेली : क्या करना आसान है, लेकिन इससे बाहर निकलना मुश्किल है? 

 उत्तर : मुसीबत


पहेली : आप लाल रंग पर जाते हैं, लेकिन हरे रंग पर रुक जाते हैं। मैं क्या हूँ?


उत्तर : तरबूज! आप लाल हिस्सा खाते हैं, और आप हरे हिस्से में खाना बंद कर देते हैं।


 पहेली : गरीब लोगों के पास है। अमीर लोगों को इसकी जरूरत है। अगर आप इसे खाते हैं तो आप मर जाते हैं। यह क्या है?

 उत्तर : कुछ भी  नहीं


 पहेली : एक कोने में रहते हुए दुनिया भर की यात्रा क्या  कर सकता  हैं?

उत्तर : एक मोहर


 पहेली : मुझे खिलाओ और मैं जीवित हूं, लेकिन अगर  तुम मुझे पानी दिया तब मैं मर जाऊंगा

उत्तर : आग


पहेली : आप क्या सुन सकते हैं लेकिन स्पर्श या देख नहीं सकते हैं और फिर भी नियंत्रण कर सकते हैं?

 उत्तर : अपना आवाज़


पहेली : पंखों के बिना क्या उड़ता है?

उत्तर : समय


पहेली :  मैं उड़ सकता हूं लेकिन पंख नहीं हैं। मैं रो सकता हूं लेकिन मेरी कोई आंख नहीं है। मैं जहां भी जाता हूं, अंधेरा मेरा पीछा करता है। मैं क्या हूँ?

उत्तर : बादल


पहेली : क्या नीचे जाता है लेकिन कभी ऊपर नहीं जाता है? 

उत्तर : वर्षा



हिंदी की पहेलियां बूझना ऐसा मजेदार खेल है कि दिमाग की चक्करघिन्नी बन जाती है। इंसान ने शब्द रचे और भाषा बनाई तो उसके साथ ही पहेलियां भी जन्मीं, क्योंकि प्राचीन समय में इनसे बेहतर टाइमपास का जरिया कुछ और नहीं था। पहेलियां आदि काल से व्यक्तित्व का हिस्सा रहीं हैं और रहेंगी। वे न केवल मनोरंजन करती हैं पर दिमाग को चुस्त एवं तरो-ताजा भी रखती हैं।पहेलियों की रचना में प्राय: ऐसा पाया जाता है कि जिस विषय की पहेली बनानी होती है उसके रूप, गुण एवं कार्य का इस प्रकार वर्णन किया जाता है जो दूसरी वस्तु या विषय का वर्णन जान पड़े और बहुत सोच विचार के बाद उस वास्तविक वस्तु पर घटाया जा सके। इसे बहुधा कवित्वपूर्ण शैली में लिखा जाता है ताकि सुनने में मधुर लगे। यह परंपरा भारत देश में प्राचीन काल से प्रचलित है।





KEYWORDS : paheliyan in hindi with answer, hindi paheliyan with answer, hindi paheliyan answer, paheliyan hindi, paheliya hindi me, paheliyan hindi mein, Hindi Riddles, Hindi tricky riddles, Hindi riddles and answer, Hindi riddles with answer, Hindi paheli, Mast paheli, Hindi Paheliya, Hindi Paheliya with answers, riddles in Hindi, Tricky riddles with answer in Hindi, hindi paheliyan aur unke uttar, hindi paheliyan, hindi paheliyan with answer, hindi paheliyan likhit, हिंदी पहेलियाँ, hindi paheliyan paheliyan, hindi paheliyan answer











Thursday, April 23, 2020

Hindi Jokes | Funny Hindi Jokes
Padhiye Majedaar Hindi Jokes ( Chutkule)
Hindi Jokes For You

1. लड़की साथ हो तो होटल का बिल, 

लड़की दूर हो तो फोन का बिल, 

लड़की दूर ही हो जाए तो दारु का बिल, 

इसलिए ना लगाओ दिल और ना आएगा बिल!

2. शादी के बाद सुहागरात को पति पत्नी के पास पहुंचा।

पति- क्या बताऊं, लगातार दोस्तों में बात करते-करते थक गया हूं. जरा एक गिलास पानी तो पिला दो।

पत्नी कहा मानते हुए पानी लेने किचन चली गई। जब वो पानी लेकर लौटी तो देखा कि पति बिस्तर पर लेटकर सो गया है।

पत्नी पानी का गिलास लेकर पास की कुर्सी पर बैठ गई।


पति सुबह उठा तो देखा कि पत्नी पानी का गिलास लिए बैठी है। इस पर उसने खुश होकर पत्नी से कहा, मांगो क्या मांगती हो प्रिय।

पत्नी- मुझे अभी तलाक चाहिए।

3. पिता ने देखा कि बेटा जींस का बटन टांक रहा है...
पिता - बेटा, हमने तुम्हारी शादी कराई, बहू घर आ गई,
फिर भी तुम अपनी पैंट का बटन खुद ही टांक रहे हो!


बेटा - पापा आप गलत सोच रहे हैं, you 
यह जींस उसी की है...!!!   

4. पत्नी – अजी सुनते हो , तुमको ऑफिस की फ़िक्र है घर की कोई फ़िक्र ही नहीं

पति – क्या हुआ ?


पत्नी – लगता है हमारी बेटी ने बाहर किसी से सेटिंग कर ली है

पति – तुमको कैसे पता ?

पत्नी – आज कल मोबाइल रिचार्ज के पैसे ही नहीं माँगती है …. 
पति बेहोश

5. एक पत्नी की व्यथा...
मेरे पतिदेव भी 'कौन बनेगा करोड़पति' के अमिताभ बच्चन
से कम नहीं हैं...

जब भी पैसा मांगो...


बोलते हैं- 'क्या करेंगी आप इतनी धनराशि का'...!!!

6. छुट्टी के दिन पति सुबह-सुबह फेसबुक खोल कर बैठ गए। उनकी एक महिला मित्र ने सैंडविच का फोटो अपलोड करके लिखा, आओ सब नाश्ता करें।
पति ने कॉमेंट किया- बहुत टेस्टी नाश्ता था, मजा आ गया।
पत्‍‌नी ने यह कमेंट पढ़ लिया।
4 घंटे तक पति को नाश्ता ना देने के बाद पत्‍‌नी- लंच घर पर करोगे या फेसबुक पर?

7. 
पप्पू अपनी बिल्ली से तंग आकर उसे दूर छोड़ आए।
घर आया तो बिल्ली वापस आ चुकी थी। दूसरी बार छोड़ कर आया और बिल्ली फिर वापस आ गई। तीसरी बार उसे बहुत दूर जंगल में छोड़कर आया। वापसी में घर फोन करके पूछा, क्या बिल्ली घर आ गई?
जवाब मिला- हां।
पप्पू- उसको भेजो यहां मैं रास्ता भूल गया हूं।

8. पति : तुम कहाँ हो?
श्रीमती : आप के दिल में हूं !☺️
पति : तुम्हें कितनी बार समझाया है   कि भीड़भाड़ वाली जगह पर मत जाया करो।।
😜😝😂😂

9. पति - आज खाने में क्या बना रही हो?
पत्नी - आलू की सब्जी बना रही हूं!
पर मुझे ये समझ नहीं आ रहा है कि 
आलू अभी तक पके क्यों नहीं! 


पति - तो तुम ऐसा क्यों नहीं करती!
पत्नी - क्या करूं?
पति - तुम थोड़ी देर आलू से बातें करके देखो, 
शायद पक जाए...!!!

10. पति और पत्नी एक कुएं के पास गए,
जहां सिक्का डालने से मन की मुराद
पूरी हो जाती थी...!

पहले पति ने सिक्का डाला, फिर पत्नी
जैसे ही सिक्का डालने गई तो 
पैर फिसल गया और वो कुएं में गिर गई!


पति की आंखों में आंसू आ गए,
ऊपर देखते हुए बोला- हे भगवान, 
इतनी जल्दी सुन ली...!!!

Read Hindi Jokes -  Funny Hindi Jokes

Monday, April 20, 2020

गणित पहेलियों उत्तर के साथ | Hindi Math Riddels With Answer
किसी वस्तु या विषय का ऐसा गूढ़ वर्णन जिसके आधार पर उत्तर देने या उस वस्तु का नाम बताने में बहुत सोच विचार करना पड़े I 

      Hindii Paheliya (Hindi Riddels)

पहेली: मैं एक विषम संख्या हूं। एक शब्द 
           निकाल लो और मैं सम संख्या बन    
           गया। मैं किस नंबर का हूँ?

उत्तर: सात

पहेली: यदि दो की कंपनी, और तीन की भीड़  
          है, तो चार और पाँच क्या हैं?

उत्तर: नौ

पहेली: कौन से तीन संख्याएँ, जिनमें से 
          कोई भी शून्य नहीं है, वही परिणाम दें 
          जो उन्होंने जोड़े या गुणा किए हैं?

उत्तर: एक, दो और तीन

पहेली: मैरी की चार बेटियां हैं और उनकी 
         हर बेटी का एक भाई है। मैरी के कितने 
         बच्चे हैं?

उत्तर: पाँच-प्रत्येक बेटी का एक ही भाई है।

पहेली: तीन डॉक्टरों ने कहा कि बिल उनका 
          भाई था। बिल कहता है कि उसका 
          कोई भाई नहीं है। बिल वास्तव में     
          कितने भाई हैं?

उत्तर: कोई नहीं। उसकी तीन बहनें हैं।

पहेली: दो पिता और दो बेटे एक कार में हैं, 
          फिर भी कार में केवल तीन लोग हैं। 
          कैसे?

उत्तर: वे एक दादा, पिता और पुत्र हैं।

पहेली: कल से पहले का दिन मैं 21 साल का 
          था, और अगले साल मैं 24 साल का हो 
          जाऊँगा। मेरा जन्मदिन कब है?

उत्तर: 31 दिसंबर; आज 1 जनवरी है।


पहेली: एक लड़की के बहनों के जितने 
        भाई होते हैं, लेकिन प्रत्येक भाई बहनों 
        के रूप में केवल आधे भाई होते हैं।   
       परिवार में कितने भाई-बहन हैं?

उत्तर: चार बहनें और तीन भाई



हिंदी की पहेलियां बूझना ऐसा मजेदार खेल है कि दिमाग की चक्करघिन्नी बन जाती है। इंसान ने शब्द रचे और भाषा बनाई तो उसके साथ ही पहेलियां भी जन्मीं, क्योंकि प्राचीन समय में इनसे बेहतर टाइमपास का जरिया कुछ और नहीं था। पहेलियां आदि काल से व्यक्तित्व का हिस्सा रहीं हैं और रहेंगी। वे न केवल मनोरंजन करती हैं पर दिमाग को चुस्त एवं तरो-ताजा भी रखती हैं।पहेलियों की रचना में प्राय: ऐसा पाया जाता है कि जिस विषय की पहेली बनानी होती है उसके रूप, गुण एवं कार्य का इस प्रकार वर्णन किया जाता है जो दूसरी वस्तु या विषय का वर्णन जान पड़े और बहुत सोच विचार के बाद उस वास्तविक वस्तु पर घटाया जा सके। इसे बहुधा कवित्वपूर्ण शैली में लिखा जाता है ताकि सुनने में मधुर लगे। यह परंपरा भारत देश में प्राचीन काल से प्रचलित है





KEYWORDS : paheliyan in hindi with answer, hindi paheliyan with answer, hindi paheliyan answer, paheliyan hindi, paheliya hindi me, paheliyan hindi mein, Hindi Riddles, Hindi tricky riddles, Hindi riddles and answer, Hindi riddles with answer, Hindi paheli, Mast paheli, Hindi Paheliya, Hindi Paheliya with answers, riddles in Hindi, Tricky riddles with answer in Hindi, hindi paheliyan aur unke uttar, hindi paheliyan, hindi paheliyan with answer, hindi paheliyan likhit, हिंदी पहेलियाँ, hindi paheliyan paheliyan, hindi paheliyan answer
हिंदी पहेली उत्तर के साथ  | Hindi Riddles with answers
किसी वस्तु या विषय का ऐसा गूढ़ वर्णन जिसके आधार पर उत्तर देने या उस वस्तु का नाम बताने में बहुत सोच विचार करना पड़े I 
        Hindi Paheliya (Hindi Riddels)


1. पहेली: इसका इस्तेमाल करने से पहले आपको क्या तोड़ना होगा?
उत्तर: एक अंडा

2. पहेली: जब मैं छोटा हूं, तो मैं लंबा हूं और जब मैं बूढ़ा हो गया हूं तो मैं छोटा हूं। मैं क्या हूँ?
उत्तर: एक मोमबत्ती

3. पहेली: साल के किस महीने में 28 दिन होते हैं?
उत्तर: सभी

4. पहेली: क्या छेद से भरा है लेकिन अभी भी पानी रखता है?
उत्तर: एक स्पंज

5. पहेली: आप किस सवाल का जवाब कभी नहीं दे सकते?
उत्तर: क्या आप अभी तक सो रहे हैं?

6. पहेली: आपके सामने हमेशा क्या होता है, लेकिन देखा नहीं जा सकता है?
उत्तर: भविष्य

7. पहेली: एक कहानी घर है जिसमें सब कुछ पीला है। पीली दीवारें, पीले दरवाजे, पीले फर्नीचर। सीढ़ियाँ किस रंग की होती हैं?
उत्तर: इसमें कोई भी एक कहानी नहीं है - एक कहानी घर।

8. पहेली। आप इसे कभी नहीं उठा सकते हैं या इसे छू नहीं सकते हैं, तो आप क्या तोड़ सकते हैं?
उत्तर: एक वादा

9. पहेली: क्या हो जाता है लेकिन कभी नीचे नहीं आता है?
उत्तर: आपकी उम्र

10. पहेली: एक आदमी जो बिना छाता या टोपी के बारिश में बाहर रहता था, उसके सिर पर एक भी बाल नहीं था। क्यों?
उत्तर: वह गंजा था।

11. पहेली: सुखाने के दौरान क्या गीला हो जाता है?
उत्तर: एक तौलिया

12. पहेली: किसी को देने के बाद आप क्या रख सकते हैं?
उत्तर: आपका शब्द

13. पहेली: मैं हर दिन दाढ़ी रखता हूं, लेकिन मेरी दाढ़ी वही रहती है। मैं क्या हूँ?
उत्तर: एक नाई

14. पहेली: आप लोगों से भरी एक नाव देखते हैं, फिर भी उसमें एक भी व्यक्ति नहीं है। वो कैसे संभव है?
उत्तर: नाव पर सभी लोग विवाहित हैं।

15. पहेली: आप एक कमरे में चलते हैं जिसमें एक मैच, एक मिट्टी का दीपक, एक मोमबत्ती और एक चिमनी है। आप पहले क्या प्रकाश करेंगे?
उत्तर: मैच

16. पहेली: 25 साल की उम्र में एक व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है। यह कैसे संभव है?
उत्तर: उनका जन्म 29 फरवरी को हुआ था।

17. पहेली: मेरे पास शाखाएं हैं, लेकिन कोई फल, ट्रंक या पत्तियां नहीं हैं। मैं क्या हूँ?
उत्तर: एक बैंक

18. पहेली: क्या बात नहीं की जा सकती, लेकिन जब बात की जाएगी तो क्या जवाब देगा?
उत्तर: एक प्रतिध्वनि

19. पहेली: जितना अधिक यह है, उतना ही कम आप देखते हैं। यह क्या है?
उत्तर: अंधकार

हिंदी की पहेलियां बूझना ऐसा मजेदार खेल है कि दिमाग की चक्करघिन्नी बन जाती है। इंसान ने शब्द रचे और भाषा बनाई तो उसके साथ ही पहेलियां भी जन्मीं, क्योंकि प्राचीन समय में इनसे बेहतर टाइमपास का जरिया कुछ और नहीं था। पहेलियां आदि काल से व्यक्तित्व का हिस्सा रहीं हैं और रहेंगी। वे न केवल मनोरंजन करती हैं पर दिमाग को चुस्त एवं तरो-ताजा भी रखती हैं।पहेलियों की रचना में प्राय: ऐसा पाया जाता है कि जिस विषय की पहेली बनानी होती है उसके रूप, गुण एवं कार्य का इस प्रकार वर्णन किया जाता है जो दूसरी वस्तु या विषय का वर्णन जान पड़े और बहुत सोच विचार के बाद उस वास्तविक वस्तु पर घटाया जा सके। इसे बहुधा कवित्वपूर्ण शैली में लिखा जाता है ताकि सुनने में मधुर लगे। यह परंपरा भारत देश में प्राचीन काल से प्रचलित है।


KEYWORDS : paheliyan in hindi with answer, hindi paheliyan with answer, hindi paheliyan answer, paheliyan hindi, paheliya hindi me, paheliyan hindi mein, Hindi Riddles, Hindi tricky riddles, Hindi riddles and answer, Hindi riddles with answer, Hindi paheli, Mast paheli, Hindi Paheliya, Hindi Paheliya with answers, riddles in Hindi, Tricky riddles with answer in Hindi, hindi paheliyan aur unke uttar, hindi paheliyan, hindi paheliyan with answer, hindi paheliyan likhit, हिंदी पहेलियाँ, hindi paheliyan paheliyan, hindi paheliyan answer

Tuesday, April 14, 2020

Hindi Riddles with answers
किसी वस्तु या विषय का ऐसा गूढ़ वर्णन जिसके आधार पर उत्तर देने या उस वस्तु का नाम बताने में बहुत सोच विचार करना पड़े I 
                  

Hindi Paheliya (Hindi Riddels)

1. एक थाल मोतियों से भरा, सबके सिर पर  
    उलटा धरा।

    चारों ओर वो थाल फिरे, मोती फिर भी एक 
    न गिरे।

Ans : तारे

2. मैं लम्बा-पतला विद्वान, पहनें लकड़ी का 
    परिधान।

    बच्चों को लिखना सिखलाऊं, बोलो तो मैं 
    क्या कहलाऊं।

Ans : पेन्सिल

3. पल भर में दूरी मिट जाए, छूते ही पहिए 
    को।

    रहता घर में दफ्तर में भी, सब कह लो, सब 
    सुन लो।

Ans : टेलीफ़ोन

4. चाय गरम है, गरम है पानी, दूध गरम, घंटे 
    बीते।

    चाहे संकट हो, रात हो चाहे, बड़े मजे से सब   
    पीते।

Ans : थर्मस

5. चार पांव पर चल न पाऊं, बिना हिलाए न 
    हिल पाऊं।

    फिर भी सब को दें आराम, बोलो क्या है मेरा 
    नाम?

Ans : चारपाई

6. बड़ों-बड़ों को राह दिखाऊं, कान पकड़कर 
    उन्हें पढ़ाऊं।

    साथ में उनकी नाक दबाऊं, फिर भी मैं 
    अच्छा कहलाऊं।

Ans : चश्मा

7. सबसे महंगा पशु हूं बतलाओ मेरा नाम।

Ans : रेस का घोड़ा

8. गोल-गोल हूं, गेंद नहीं, लाल-लाल हूं, फूल 
    नहीं।

    आता हूं खाने के काम, मटर है या फिर 
    टमटम नाम।

Ans : टमाटर

9. जीभ नहीं है फिर भी बोले, पैर नहीं पर जंग 
    में डोले।

   राजा-रंक सभी को भाता, जब आता है 
   खुशियां लाता।

Ans : रुपया

10. केरल से आया टिंगू काला, चार कान और 
      टोपी वाला।

Ans : लोंग

11. छोटा सा धागा, बात ले भागा।

Ans : टेलीफ़ोन

12. बेशक न हो हाथ में हाथ, जीता है वो 
      आपके साथ।

Ans : साया

13. सूट हरा है, टाई लाल। बोलू-सबको करूं   
      निहाल।

Ans : तोता

14. एक परी है पतली दुबली, काला मुकुट 
      पहनती।

     मुकुट गंवाकर करे उजाला, खुद अंधकार में     
     रहती।

Ans : माचिस की तीली

15. आसमान में उड़े पेड़ पर घोंसला न बनाए।

      तूफान से डरे रहने को, धरती पर आ 
      जाए।

Ans : हवाई जहाज



हिंदी की पहेलियां बूझना ऐसा मजेदार खेल है कि दिमाग की चक्करघिन्नी बन जाती है। इंसान ने शब्द रचे और भाषा बनाई तो उसके साथ ही पहेलियां भी जन्मीं, क्योंकि प्राचीन समय में इनसे बेहतर टाइमपास का जरिया कुछ और नहीं था। पहेलियां आदि काल से व्यक्तित्व का हिस्सा रहीं हैं और रहेंगी। वे न केवल मनोरंजन करती हैं पर दिमाग को चुस्त एवं तरो-ताजा भी रखती हैं।पहेलियों की रचना में प्राय: ऐसा पाया जाता है कि जिस विषय की पहेली बनानी होती है उसके रूप, गुण एवं कार्य का इस प्रकार वर्णन किया जाता है जो दूसरी वस्तु या विषय का वर्णन जान पड़े और बहुत सोच विचार के बाद उस वास्तविक वस्तु पर घटाया जा सके। इसे बहुधा कवित्वपूर्ण शैली में लिखा जाता है ताकि सुनने में मधुर लगे। यह परंपरा भारत देश में प्राचीन काल से प्रचलित है।






KEYWORDS : paheliyan in hindi with answer, hindi paheliyan with answer, hindi paheliyan answer, paheliyan hindi, paheliya hindi me, paheliyan hindi mein, Hindi Riddles, Hindi tricky riddles, Hindi riddles and answer, Hindi riddles with answer, Hindi paheli, Mast paheli, Hindi Paheliya, Hindi Paheliya with answers, riddles in Hindi, Tricky riddles with answer in Hindi, hindi paheliyan aur unke uttar, hindi paheliyan, hindi paheliyan with answer, hindi paheliyan likhit, हिंदी पहेलियाँ, hindi paheliyan paheliyan, hindi paheliyan answer
Majedaar Hindi Paheliya Aur Unke Jawab |  हिंदी पहेली उत्तर के साथ
किसी वस्तु या विषय का ऐसा गूढ़ वर्णन जिसके आधार पर उत्तर देने या उस वस्तु का नाम बताने में बहुत सोच विचार करना पड़े I 
                                   
     
   Hindi Paheliya (Hindi Riddels)        

1. सात रंग की एक चटाई, बारिश में देती 
    दिखलाई।

Ans : इंदरधनुस

2. एक लाठी की अजब कहानी, उसके भीतर 
    मीठा पानी।

    उस लाठी में गांठे-दस, जो चाहे वो, पीले 
    रस।

Ans : गन्ना

3. जादू के डंडे को देखो, न तेल न पानी।।

    पलक झपकते तुरंत रोशनी सभी ओर        
    फैलानी।

Ans : ट्यूबलाइट

4. एक पैर है, काली धोती, सर्दी में हरदम है   
    सोती।

    सावन में रोती रहती है, गर्मी में छाया है 
    होती।

Ans : छतरी

5. आता है तो फूल खिलाता, पक्षी गाते गाना।

    सभी को जीवन देता है, पर उसके पास न    
    जाना।

Ans : सूरज

6. हरं. घर से मैं नजर हूं आता, सब बच्चों को 
    खूब हूं भाता।

    दूर का हूं लगता मामा, रूप बदलता पर मन 
    भाता।।

Ans : चन्द्रमा

7. चार खड़े, दो अड़े, दो पड़े, एक-एक के मुंह 
    में दो-दो पड़े।

Ans : खाट

8. एक जानवर ऐसा, जिसकी दुम पर पैसा।

Ans : मोर

9. वो सबके आगे-आगे सब उसके पीछे भागे।

    गोल-गोल, प्यारा-प्यारा, रुके नहीं सरपट 
    भागे।

Ans : रुपया

10. वहां भी हूं, यहां भी मैं, इधर भी हूं, उधर 
      भी हूं।

     नजर मैं आ नहीं सकती किसी को भी 
     जिधर भी हूं।

     कर कोशिश अगर जबरन तो आंखें बन्द हो 
     जाएं।

     अगर मैं मिल न पाऊं तो सभी बेमौत मर   
     जाएं।

Ans : हवा

11. कभी रहूं तेरे पीछे, कभी चलू तेरे आगे।

      मुझको कभी न पकड़ सके, तू चाहे 
      जितना भागे।

      फिर भी हर पल साथ तेरे, फिर भले हाथ   
      में हाथ न हो,

      अंधियारे से डरती हूं, बस उजियाले में मन 
      लागे।

Ans : परछाई

12. वाणी में गुण बहुत हैं, पर मुझसे अच्छा 
      कौन?

     सारे झगड़ों को टालू-बतलाओ मैं कौन ?

Ans : मौन

13. गोल-गोल मैं घूम रही, गोल-गोल काटू 
      चक्कर।

     सब कहते मुझको माता, फिर भी रखें 
     कदमों पर।

Ans : धरती

14. कॉलगेट सी, मौत हूं मैं, नशेबाज की सौत 
      हूं मैं।

     जो फंस गया मेरे जादू में, आ गया मौत के 
     काबू में।

Ans : स्मैक

15. कोई कहे मुझको आंसू, कोई कहे मुझको 
      मोती।

      सरिसर्प मुझे चाट लेटे, मैं जब भी पत्तों पर 
      होती।

Ans : ओस



हिंदी की पहेलियां बूझना ऐसा मजेदार खेल है कि दिमाग की चक्करघिन्नी बन जाती है। इंसान ने शब्द रचे और भाषा बनाई तो उसके साथ ही पहेलियां भी जन्मीं, क्योंकि प्राचीन समय में इनसे बेहतर टाइमपास का जरिया कुछ और नहीं था। पहेलियां आदि काल से व्यक्तित्व का हिस्सा रहीं हैं और रहेंगी। वे न केवल मनोरंजन करती हैं पर दिमाग को चुस्त एवं तरो-ताजा भी रखती हैं।पहेलियों की रचना में प्राय: ऐसा पाया जाता है कि जिस विषय की पहेली बनानी होती है उसके रूप, गुण एवं कार्य का इस प्रकार वर्णन किया जाता है जो दूसरी वस्तु या विषय का वर्णन जान पड़े और बहुत सोच विचार के बाद उस वास्तविक वस्तु पर घटाया जा सके। इसे बहुधा कवित्वपूर्ण शैली में लिखा जाता है ताकि सुनने में मधुर लगे। यह परंपरा भारत देश में प्राचीन काल से प्रचलित है।





KEYWORDS : paheliyan in hindi with  hindi paheliyan with answer, hindi paheliyan answer, paheliyan hindi, paheliya hindi me, paheliyan hindi mein, Hindi Riddles, Hindi tricky riddles, Hindi riddles and answer, Hindi riddles with answer, Hindi paheli, Mast paheli, Hindi Paheliya, Hindi Paheliya with answers, riddles in Hindi, Tricky riddles with answer in Hindi, hindi paheliyan aur unke uttar, hindi paheliyan, hindi paheliyan with answer, hindi paheliyan likhit, हिंदी पहेलियाँ, hindi paheliyan paheliyan, hindi paheliyan answer
Hindi Paheliya With Answer |  हिंदी पहेली उत्तर के साथ
किसी वस्तु या विषय का ऐसा गूढ़ वर्णन जिसके आधार पर उत्तर देने या उस वस्तु का नाम बताने में बहुत सोच विचार करना पड़े|
                   

Hindi Paheliya (Hindi Riddels)

1. गागर में जैसे सागर, वैसे मैं मटके के अंदर। 
    जटा जूट और बेढंगा, ऊपर काला अंदर    
    गोरा।

    पानी हूं मीठा ठंडा, रहता हूं लम्बे पेड़ों पर।

Ans : नारियल

2. शर्ट, कोट, कुर्ता, कमीज सब मुझसे शोभा   
    पाते।

    ना हूं मैं तो तन पर कपड़े धारण न कर पाते।

Ans : बटन

3. चार पैर रखती हूं, लेकिन कहीं न जाती हूं।

    ऑफिस हो या हो संसद, हर जगह   
    फसादकराती हूं।

Ans : कुर्सी

4. दुनिया के कोने-कोने का घर बैठे कर लो 
    दर्शन।

    दूर-पास की सैर कराता, बिना यान, मोटर 
    या रेल।।

    मुझको कहते ‘बुहू बक्सा’ ऐसा भी है मेर    
    खेल।

    मनोरंजन, शिक्षा, पिक्चर, गाना, खेल भरे 
    मेरे अंदर।

Ans : दूरदर्शन


5. घर की रखवाली करता हूं बिना लिए 
    लाठी-तलवार।

    जब तुम जाते चले कहीं, मैं झट बन 
    जाता–पहरेदार।

Ans : ताला

6 : लकड़ी का एक किला है भैया, चार कुएं 
     हैं-बिन पानी।

    उसमें बैठे चोर अट्ठारह, संग लिए-एक रानी।
    एक दरोगा-भारी भरकम, सब चोरों को     
    मारे।

   रानी को भी कुएं में डाल, खूब करे मनमानी।

Ans : केरम

7. घर हैं चौंसठ, बत्तीस हम, सोलह सफेद, 
    काले सोलह।

    आठ-आठ अफसर दोनों, आठ-आठ सेवक 
    हैं साथ।

   श्याम-श्वेत से वर्गों में खूब लड़े और दे दें मात  

Ans : सतरंज के मोहरे

8. कठोर हूं पर पहाड़ नहीं, जल है मगर समुद्र 
    नहीं।

    जटाएं हैं पर योगी नहीं, मीठा है मगर गुड़    
    नहीं।

Ans : नारियल

9. रक्त से सना हूं, दो अक्षर का नाम है।

    बहादुर के पहले, जवाहर के बाद, यह मेरी   
    पहचान है।

Ans : लाल

10. इचक दाना बीचक दाना, दाने ऊपर 
      दाना।

      छज्जे ऊपर मोर नाचे, लड़का है दीवाना।।

Ans : अनार

11. अश्व की सवारी, भाला ले भारी।

      घास की रोटी खाई, जारी रखी लड़ाई।

Ans : राणाप्रताप

12. देकर एक झटका, फांसी पर लटका।
      इन्कलाब का शोला, जिंदाबाद बोला।

Ans : भगत सिंह

13. खादी को पहना, और अहिंसा को पूजा।

      फिर भी लाठी हाथ में रखी, पिता बना 
      दूजा।

Ans : महात्मा गांधी

14. गर्मी में लगती है अच्छी, सर्दी में नहीं 
      भाती।

      दो अक्षर की हाथ न आती, तन से हूं   
      टकराती।

Ans : हवा

15. उड़ता है पर पक्षी नहीं, ताकतवर हैं उसके 
      अंग।

      सर्दी हो या गर्मी यह रहता है सदा मस्त 
      मलंग।

Ans : हवाई जहाज



हिंदी की पहेलियां बूझना ऐसा मजेदार खेल है कि दिमाग की चक्करघिन्नी बन जाती है। इंसान ने शब्द रचे और भाषा बनाई तो उसके साथ ही पहेलियां भी जन्मीं, क्योंकि प्राचीन समय में इनसे बेहतर टाइमपास का जरिया कुछ और नहीं था। पहेलियां आदि काल से व्यक्तित्व का हिस्सा रहीं हैं और रहेंगी। वे न केवल मनोरंजन करती हैं पर दिमाग को चुस्त एवं तरो-ताजा भी रखती हैं।पहेलियों की रचना में प्राय: ऐसा पाया जाता है कि जिस विषय की पहेली बनानी होती है उसके रूप, गुण एवं कार्य का इस प्रकार वर्णन किया जाता है जो दूसरी वस्तु या विषय का वर्णन जान पड़े और बहुत सोच विचार के बाद उस वास्तविक वस्तु पर घटाया जा सके। इसे बहुधा कवित्वपूर्ण शैली में लिखा जाता है ताकि सुनने में मधुर लगे। यह परंपरा भारत देश में प्राचीन काल से प्रचलित है।



KEYWORDS : paheliyan in hindi with answer, hindi paheliyan with answer, hindi paheliyan answer, paheliyan hindi, paheliya hindi me, paheliyan hindi mein, Hindi Riddles, Hindi tricky riddles, Hindi riddles and answer, Hindi riddles with answer, Hindi paheli, Mast paheli, Hindi Paheliya, Hindi Paheliya with answers, riddles in Hindi, Tricky riddles with answer in Hindi, hindi paheliyan aur unke uttar, hindi paheliyan, hindi paheliyan with answer, hindi paheliyan likhit, हिंदी पहेलियाँ, hindi paheliyan paheliyan, hindi paheliyan answer